Technology

Decoding Blockchain Technology in Hindi: A Comprehensive Guide

Last Updated on 13 November 2023 by Kashif Rahman

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

दोस्तों आज के हमारे आर्टिकल का विषय है- Blockchain Technology in Hindi.बहुत सारे लोग जानना चाहते हैं की Blockchain Technology आखिर है  क्या? हाल फिलहाल Bitcoin बहुत समय तक सुर्ख़ियों में रहा है. लोगों में Bitcoin को लेकर बहुत उम्मीद पैदा हुई है क्यूंकि Bitcoin की कीमत दिनबदिन बढती जा रही है.

Bitcoin का सम्बन्ध Blockchain Technology  से है इसलिए आपको Blockchain के विषय में जानना होगा, जैसे कि यह क्या है, इसका उपयोग कैसे और कहाँ किया जाता है, इसके इतिहास,प्रकार और काम करने के तरीके के बारे में ।

What Is Blockchain?

ब्लॉकचेन तकनीक एक Decentralized , Distributed बहीखाता है जो डिजिटल संपत्तियों के स्वामित्व का रिकॉर्ड Store करता है। ब्लॉकचेन पर Stored किसी भी डेटा को संशोधित नहीं किया जा सकता है, जिससे यह तकनीक भुगतान, साइबर सुरक्षा और स्वास्थ्य सेवा जैसे उद्योगों के लिए एक वैध व्यवधान बन जाती है।

ब्‍लॉकचेन तकनीक हमारे IT industry को उस प्रकार से बदलने वाला है जैसे की open-source software ने एक दशक पहले किया था. और जिस प्रकार Linux करीब एक दशक से modern application development का मूल रहा है, ठीक वैसे ही Blockchain भी आने वाले समय में एक बहुत ही बेहतरीन जरिया बनने वाला है information share करने का, और जो की lower cost होगा और बड़ी आसानी से इसे implement किया जा सकता है open और private networks के बिच.

ब्लॉकचेन तकनीक एक उन्नत डेटाबेस तंत्र है जो एक व्यावसायिक नेटवर्क के भीतर पारदर्शी जानकारी साझा करने की अनुमति देता है। एक ब्लॉकचेन डेटाबेस उन ब्लॉकों में डेटा संग्रहीत करता है जो एक श्रृंखला में एक साथ जुड़े हुए हैं। डेटा कालानुक्रमिक रूप से सुसंगत है क्योंकि आप नेटवर्क से सर्वसम्मति के बिना श्रृंखला को हटा या संशोधित नहीं कर सकते हैं। परिणामस्वरूप, आप ऑर्डर, भुगतान, खाते और अन्य लेनदेन को ट्रैक करने के लिए एक अपरिवर्तनीय या अपरिवर्तनीय बहीखाता बनाने के लिए ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग कर सकते हैं। सिस्टम में अंतर्निहित तंत्र हैं जो अनधिकृत लेनदेन प्रविष्टियों को रोकते हैं और इन लेनदेन के साझा दृश्य में स्थिरता बनाते हैं।

Blockchain technology in hindi
Blockchain technology in Hindi

Why is blockchain important?

पारंपरिक डेटाबेस Technology में वित्तीय लेनदेन को रिकॉर्ड करने के लिए कई खामियाँ होती हैं। उदाहरण के लिए, किसी संपत्ति की बिक्री पर विचार करें। एक बार पैसे का आदान-प्रदान हो जाने के बाद, संपत्ति का स्वामित्व खरीदार को स्थानांतरित कर दिया जाता है। व्यक्तिगत रूप से, खरीदार और विक्रेता दोनों रुपये के लेनदेन को रिकॉर्ड कर सकते हैं, लेकिन वे कभी भी चाहें तो इससे मुकर सकतें हैं। विक्रेता आसानी से यह दावा कर सकता है कि उन्हें पैसा नहीं मिला है, भले ही उसे पैसा मिल गया हो।और ठीक उसी प्रकार खरीदार भी समान रूप से यह तर्क दे सकता है कि उन्होंने पैसे का भुगतान कर दिया है, भले ही उसने रुपये नहीं दिया हो।

संभावित कानूनी मुद्दों से बचने के लिए, एक विश्वसनीय तीसरे पक्ष को लेनदेन की निगरानी और सत्यापन के लिए रखना ज़रूरी हो जाता है।

इस केंद्रीय प्राधिकरण की उपस्थिति न केवल लेनदेन को जटिल बनाती है बल्कि Vulnerability का एक Point भी बन जाता है। यदि केंद्रीय डेटाबेस से समझौता किया गया, तो दोनों पक्षों को नुकसान हो सकता है।

ब्लॉकचेन लेनदेन को रिकॉर्ड करने के लिए एक विकेन्द्रीकृत, छेड़छाड़-रोधी प्रणाली बनाकर ऐसे मुद्दों को कम करता है। संपत्ति लेनदेन में, ब्लॉकचेन खरीदार और विक्रेता प्रत्येक के लिए एक खाता बनाता है। सभी लेनदेन को दोनों पक्षों द्वारा अनुमोदित किया जाता है और वास्तविक समय में उनके दोनों खातों में स्वचालित रूप से अपडेट कर दिया जाता है। ऐतिहासिक लेन-देन में कोई भी भ्रष्टाचार पूरे बही-खाते को दूषित कर देगी। ब्लॉकचेन तकनीक के इन गुणों के कारण ही विभिन्न क्षेत्रों में इसका उपयोग हुआ है, जिसमें बिटकॉइन,एथेरियम जैसी डिजिटल मुद्रा का निर्माण भी शामिल है।

History of blockchain technology in Hindi

ब्लॉकचेन तकनीक का आविष्कार बहुत समय पहले 1970s में कंप्यूटर साइंटिस्ट Ralph Merkle द्वारा किया गया था। उन्होंने क्रिप्टोग्राफी नामक एक प्रकार के कंप्यूटर कोड का उपयोग करके जानकारी संग्रहीत करने का एक विशेष तरीका बनाया। यह कोड किसी के लिए भी जानकारी में बदलाव करना या उसमें गड़बड़ी करना वास्तव में कठिन बना देता था । उन्होंने सबसे पहले इस तकनीक का उपयोग यह सुनिश्चित करने के लिए किया कि महत्वपूर्ण दस्तावेजों पर सही समय की मोहर लगी हो और उन्हें बदला न जा सके। यह ब्लॉकचेन तकनीक का सबसे पहला प्रयोग था।

इन तीन पीढ़ियों में Blockchain Technology in Hindi विकास हुआ है:-

First Generation – बिटकॉइन और अन्य Virtual currency

2008 में, एक गुमनाम व्यक्ति या व्यक्तियों के समूह, जिन्हें केवल सातोशी नाकामोटो नाम से जाना जाता है, ने ब्लॉकचेन तकनीक को उसके आधुनिक रूप में रेखांकित किया। सातोशी के बिटकॉइन ब्लॉकचेन के विचार में बिटकॉइन लेनदेन के लिए जानकारी के 1 एमबी ब्लॉक का उपयोग किया गया था। बिटकॉइन ब्लॉकचेन सिस्टम की कई विशेषताएं आज भी ब्लॉकचेन तकनीक का केंद्र बनी हुई हैं।

2nd Generation – स्मार्ट अनुबंध

पहली पीढ़ी की मुद्राओं के उभरने के कुछ साल बाद, डेवलपर्स ने क्रिप्टोकरेंसी से परे ब्लॉकचेन अनुप्रयोगों पर विचार करना शुरू कर दिया। उदाहरण के लिए, एथेरियम के आविष्कारकों ने परिसंपत्ति हस्तांतरण लेनदेन में ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग करने का निर्णय लिया। उनका महत्वपूर्ण योगदान स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट फीचर था।

3rd Generation – भविष्य

जैसे-जैसे कंपनियां नए एप्लिकेशन खोजती और कार्यान्वित करती हैं, ब्लॉकचेन तकनीक का विकास और विकास जारी रहता है। कंपनियां पैमाने और गणना की सीमाओं को हल कर रही हैं, और चल रही ब्लॉकचेन क्रांति में संभावित अवसर असीमित हैं।

blockchain technology1

Features of blockchain technology in Hindi

ब्लॉकचेन तकनीक में निम्नलिखित मुख्य विशेषताएं हैं:-

1 . Decentralization

ब्लॉकचेन में विकेंद्रीकरण का अर्थ है एक व्यक्ति या समूह के बजाय बहुत से लोगों को एक साथ निर्णय लेने देना। इससे सिस्टम को निष्पक्ष बनाने में मदद मिलती है क्योंकि हर कोई देख सकता है कि क्या हो रहा है और कोई भी व्यक्ति हर किसी पर हावी नहीं हो सकता। यह चीजों को बेहतर ढंग से काम करने में भी सक्षम बनाता है क्योंकि कोई भी जानबूझकर सिस्टम को धीमा या खराब नहीं कर सकता है।

2 . Immutability

इसका अर्थ है कि कोई चीज़ एक ही स्थान पर रहती है और उसे स्थानांतरित नहीं किया जा सकता है। अपरिवर्तनीयता का अर्थ है कि किसी चीज़ को बदला या बदला नहीं जा सकता। इस मामले में, इसका मतलब यह है कि एक बार जब कोई चीज़ किसी विशेष पुस्तक में लिखी जाती है जिसे हर कोई देख सकता है, तो कोई भी उसे बदल नहीं सकता है या उसके साथ खिलवाड़ नहीं कर सकता है। यदि लिखी गई बात में कोई गलती है, तो आपको उसे ठीक करने के लिए एक नई प्रविष्टि लिखनी होगी, और गलती और सुधार दोनों सभी को दिखाई देंगे।

3 . Consensus

आम सहमति का मतलब है कि ब्लॉकचेन प्रणाली में हर कोई इस बात पर सहमत है कि लेनदेन को रिकॉर्ड किया जाए या नहीं। आप कोई नया लेन-देन केवल तभी जोड़ सकते हैं जब नेटवर्क में अधिकांश लोग कहें कि यह ठीक है।

How do different industries use blockchain?

विभिन्न उद्योगों में ब्लॉकचेन का उपयोग कैसे होता है, इसका विवरण निम्नलिखित है:

  1. वित्तीय सेवाएं: बैंकिंग और वित्त सेवाएं ब्लॉकचेन का उपयोग करके सुरक्षित और ट्रैंसपेरेंट लेन-देन को प्रबंधित कर सकती हैं। यह सुरक्षित रूप से लेन-देन को रिकॉर्ड करता है और गैर-आपात स्थितियों में वित्तीय संबंधों को स्थिति रखता है।
  2. सप्लाई चेन निगरानी: निर्माण और विभिन्न उद्योगों में ब्लॉकचेन, सप्लाई चेन की निगरानी को बढ़ा सकता है। इससे उत्पादन, शिपिंग, और वितरण प्रक्रियाओं की निगरानी में सुधार हो सकता है और तस्वीरें, साक्षात्कार आदि को सुरक्षित रूप से साझा किया जा सकता है।
  3. स्वास्थ्य और उपचार: ब्लॉकचेन स्वास्थ्य सेवाओं में पूर्णता और निगरानी लाने में मदद कर सकता है, जैसे कि रोगी के आपत्ति प्रति डेटा, फार्मास्यूटिकल लॉजिस्टिक्स, और ईमर्जेंसी सेवाओं की तेज़ पहुंच।
  4. स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्स: ब्लॉकचेन स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्स को संचित कर सकता है, जो स्वचालित रूप से नियमों और शर्तों का पालन कर सकते हैं। इससे विभिन्न उद्योगों में सुरक्षित और त्वरित लेन-देन की संभावना होती है।
  5. स्थानीय शासन: ब्लॉकचेन स्थानीय शासन क्षेत्र में सुरक्षित इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग तंतुओं के रूप में भी उपयोग किया जा सकता है। इससे वोटिंग प्रक्रिया को सुरक्षित और अद्वितीय बनाया जा सकता है।

इन उदाहरणों से साबित होता है कि ब्लॉकचेन विभिन्न क्षेत्रों में विभिन्न तरीकों से उपयोग किया जा सकता है और यह विभिन्न उद्योगों को और भी सुरक्षित, निगरानीत और विश्वसनीय बना सकता है।

Components of blockchain technology

ब्लॉकचेन आर्किटेक्चर में निम्नलिखित Components हैं –

A Distributed Ledger

एक डिस्ट्रिब्यूटेड खाता ब्लॉकचेन नेटवर्क में साझा डेटाबेस है जो लेनदेन को स्टोर करता है, जैसे कि एक Shared फ़ाइल जिसे टीम में हर कोई संपादित कर सकता है। अधिकांश शेयर्ड टेक्स्ट Editor में, संपादन अधिकार वाला कोई भी व्यक्ति पूरी फ़ाइल को डिलीट कर सकता है। हालाँकि, वितरित खाता-बही प्रौद्योगिकियों में सख्त नियम हैं कि कौन संपादित कर सकता है और कैसे संपादित कर सकता है। एक बार प्रविष्टियाँ रिकॉर्ड हो जाने के बाद आप उन्हें हटा नहीं सकते।

Smart contracts

स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट छोटे कंप्यूटर प्रोग्राम की तरह होते हैं जिनका उपयोग कंपनियां एक-दूसरे के साथ व्यापार करने के लिए करती हैं। वे किसी और की मदद की आवश्यकता के बिना अकेले ही काम करते हैं। इन्हें ब्लॉकचेन नामक एक विशेष कंप्यूटर सिस्टम पर संग्रहीत किया जाता है। जब कुछ चीजें होती हैं, तो स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट चलने लगते हैं और अपना काम करते हैं। वे यह सुनिश्चित करते हैं कि सब कुछ सुचारू रूप से चल रहा है और सही काम सही समय पर हो रहे हैं। उदाहरण के लिए, चीजों की डिलीवरी करने वाली कंपनी के पास एक स्मार्ट अनुबंध हो सकता है जो सामान बंदरगाह पर पहुंचते ही डिलीवरी करने वाले व्यक्ति को भुगतान कर देता है।

Public key cryptography

सार्वजनिक कुंजी क्रिप्टोग्राफी एक विशेष कोड की तरह है जो हमें यह जानने में मदद करती है कि एक बड़े समूह में कौन है। यह समूह में सभी को एक विशेष कुंजी देता है जिसका उपयोग वे सभी कर सकते हैं, और एक गुप्त कुंजी भी देता है जिसे केवल वे ही जानते हैं। जब हम इन कुंजियों का एक साथ उपयोग करते हैं, तो हम अपने समूह की सभी महत्वपूर्ण जानकारी को अनलॉक और देख सकते हैं।

How does blockchain work?

block
Blockchain Technology in Hindi Works

ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी एक खास प्रकार की तकनीक है जो डेटा को सुरक्षित और प्रतिस्थापनीय ढंग से संग्रहित करने का काम करती है। यह एक डिस्ट्रीब्यूटेड लेजर (वितरित खाता) पर आधारित है जिसमें जानकारी ब्लॉक्स में रखी जाती है और एक खास प्रकार के क्रिप्टोग्राफिक हैश के माध्यम से पूरे नेटवर्क में सुरक्षित होती है।

इस प्रणाली में, प्रत्येक ब्लॉक पिछले ब्लॉक का हैश शामिल करता है, जिससे एक ब्रैंच बनती है और इसे एक सीक्वेंशियल चेन में संरचित करती है। इसका मतलब है कि किसी भी ब्लॉक का हैश उससे पहले के सभी ब्लॉक्स की जानकारी को शामिल करता है और ऐसा करने से पूरे नेटवर्क में डेटा का परिवर्तन होने पर यह तुरंत पता चलता है।

इसका एक बड़ा लाभ यह है कि इसमें डेटा को किसी एक स्थान पर नहीं, बल्कि विभिन्न कंप्यूटरों या नोड्स में संग्रहित किया जाता है, जिससे इसे हैक करना मुश्किल हो जाता है। इसके अलावा, इसमें एक डेटा बदलने की प्रक्रिया के लिए समझौते की आवश्यकता होती है, जिससे सुरक्षा बढ़ती है।

इस प्रौद्योगिकी का प्रमुख उद्देश्य इसे ट्रांजैक्शन और इनफॉर्मेशन की सुरक्षितता और सत्यता को बढ़ाना है, खासकर समाज में डिजिटल मुद्रा के प्रचलन के संदर्भ में।

What are the Types of Blockchain Network

ब्लॉकचेन नेटवर्क के विभिन्न प्रकार हो सकते हैं, जो निम्नलिखित हैं:

  1. सार्वजनिक ब्लॉकचेन (Public Blockchain): यह नेटवर्क सार्वजनिक रूप से एक्सेस किया जा सकता है और कोई भी इसमें शामिल हो सकता है, डेटा को सत्यापित कर सकता है और नए ब्लॉक्स को जोड़ सकता है। बिटकॉइन इसका एक उदाहरण है।
  2. निजी ब्लॉकचेन (Private Blockchain): इस नेटवर्क में पहुँच को सीमित किया जाता है और केवल विशिष्ट उपयोगकर्ताओं को ही इसमें पहुँच होती है। इसका उदाहरण कारोबारी या संगठनात्मक ब्लॉकचेन हो सकता है जहाँ केवल आपसी विश्वास के क्षेत्र में कार्रवाई होती है।
  3. सम्मिलित ब्लॉकचेन (Consortium Blockchain): इसमें कई संगठनों की संगठनात्मक पहुँच होती है, जिससे संयुक्त रूप से निर्वाचित उपयोगकर्ताओं को पहुँच मिलती है। यह एक मध्यस्थ रूप में कार्य करता है जो संबंधित संगठनों को संयुक्त करता है।
  4. हाइब्रिड ब्लॉकचेन (Hybrid Blockchain): यह एक समरूप मॉडल है जिसमें सार्वजनिक और निजी ब्लॉकचेन की विशेषताएँ मिलती हैं। कुछ विवादित तिथियों या स्थानों में पहुँच को सीमित करने के लिए इसका उपयोग किया जा सकता है।

इन तरीकों से, ब्लॉकचेन नेटवर्क को विभिन्न उद्देश्यों और आवश्यकताओं के अनुसार विकसित किया जा सकता है।

Benefits of blockchain technology

ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी के कई लाभ हैं:

सुरक्षा: ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी की सुरक्षा उच्च होती है क्योंकि इसमें क्रिप्टोग्राफी और अन्य सुरक्षा प्रणालियों का उपयोग होता है जो डेटा को सुरक्षित रखती हैं।

ट्रैंसपेरेंसी: ब्लॉकचेन नेटवर्क में सभी सदस्यों को सभी लेखांकन और गतिविधियों का पूरा इतिहास मिलता है, जिससे प्राप्तियों का पूरा और स्पष्ट अनुसरण किया जा सकता है।

सहमति और विश्वास: ब्लॉकचेन में सभी सदस्यों के बीच सहमति बनाए रखने के लिए स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्स का उपयोग होता है, जिससे विश्वास बना रहता है।

दुरुस्ती: ब्लॉकचेन नेटवर्क में डेटा को बहुप्रति रूप से संग्रहित किया जाता है, जिससे सिंगल पॉइंट ऑफ फेल्योर की समस्याएं कम होती हैं।

ग्राहक नियंत्रण: ब्लॉकचेन ग्राहकों को उनके डेटा और लेन-देन के साथ अधिक नियंत्रण प्रदान करती है और उन्हें अपनी जानकारी को साझा करने या छुपाने का विकल्प देती है।

What is the difference between Bitcoin and blockchain?

बिटकॉइन और ब्लॉकचेन के बीच मुख्य अंतर निम्नलिखित है:

  1. बिटकॉइन:
    • बिटकॉइन एक क्रिप्टोकरेंसी है, जिसे 2008 में सतोशी नाकामोतो नामक व्यक्ति ने शुरू किया था।
    • यह एक पीयर-टू-पीयर नेटवर्क पर काम करता है और किसी सेंट्रल अथॉरिटी की आवश्यकता नहीं है।
    • बिटकॉइन ट्रांजैक्शन्स को ब्लॉकचेन में रिकॉर्ड किया जाता है।
  2. ब्लॉकचेन:
    • ब्लॉकचेन एक तकनीकी प्रणाली है जो डेटा को सुरक्षित रूप से रखने का काम करती है।
    • यह एक लिंक्ड लिस्ट (ब्लॉक) का नेटवर्क है, जिसमें प्रत्येक ब्लॉक पिछले ब्लॉक से लिंक होता है और क्रिप्टोग्राफी से सुरक्षित है।
    • ब्लॉकचेन का उपयोग डेटा इंटेग्रिटी, ट्रांजैक्शन्स की निगरानी, और सुरक्षा के लिए किया जा सकता है।

संक्षेप में, बिटकॉइन एक क्रिप्टोकरेंसी है जो ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग करके काम करती है, जो लोगों को सुरक्षित और निजी तरीके से वित्तीय लेन-देन करने की संभावना देती है। ब्लॉकचेन स्वयं एक तकनीकी प्रणाली है जो इस सुरक्षित लेन-देन को समर्थन करने के लिए उपयोग हो सकती है, जिसमें बिटकॉइन केवल एक उदाहरण है।

Conclusion

इस प्रकार से हमने देखा कि, ब्लॉकचेन एक नई और सुरक्षित तकनीक है जो विभिन्न क्षेत्रों में नए और उन्नत तरीकों से डेटा प्रबंधन और लेन-देन को संभाल रही है। यह तकनीक डेटा की सुरक्षा, पारदर्शिता, और सत्ता को बढ़ावा देने का एक समाधान प्रदान करती है, जिससे सार्वजनिक और गोपनीय लेन-देन को सुरक्षित रूप से संभाला जा सकता है।

इस गाइड ने हमें बिटकॉइन, स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्स, और इस तकनीक के अन्य अनुप्रयोगों के बारे में जानकारी प्रदान की है, जिससे हम समझ सकते हैं कि ब्लॉकचेन कैसे हमारे भविष्य को बेहतर और सुरक्षित बना सकती है। इस अद्वितीय तकनीक के सही उपयोग से हम एक सुरक्षित, निगरानीत, और विकसित डिजिटल समाज की दिशा में कदम बढ़ा सकते हैं।

इसी प्रकार के नयी नयी टेक्नोलॉजी के बारे में समग्र ज्ञान प्राप्त करने के लिए हमारे साथ बने रहे।


Kashif Rahman

मेरा नाम काशिफ रहमान है। ब्लॉगिंग, डिजिटल मार्केटिंग ,वर्डप्रेस एसईओ, टेक्नोलॉजी, इंटरनेट और कंप्यूटर ,ट्रैवेल व फुड्स से जुड़े विषयों में मेरी दिलचस्पी है।अंग्रेजी भाषा में तो कई अच्छे अच्छे ब्लॉग लिखे गए है,किन्तु हिंदी में क्वालिटी कंटेंट की भारी कमी है । इसी बात को ध्यान में रख कर मैंने January 2023 में इस ब्लॉग की शरुआत की है।ज़्यादा जानकारी के लिए अबाउट मी पेज देखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *