Technology

ChatGpt vs Google: A Positive Faceoff of Search and AI Brilliance

Last Updated on 12 August 2023 by Kashif Rahman

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Introduction of ChatGpt vs Google

दोस्तों आपने Chat Gpt और Google के बारे में तो ज़रूर सुना होगा। आज का मेरा विषय ChatGpt vs Google (इन दोनों )का तुलनात्मक विश्लेषण करना है।

आजकल Chat GPT की चर्चा खूब हो रही है, ये चैट जीपीटी क्या है? ये एक एआई टूल है जो कि 30 नवंबर 2022 को लॉन्च की गई है।

इसकी सबसे बड़ी विशेषता ये है कि चैट बॉक्स में पूछे गए प्रश्नों का जवाब कुछ ही सेकेंड में लिखित में विस्तार से देती है. इस AI टूल ने अपने रिलीज के कुछ दिनों के अंदर ही काफी पॉपुलैरिटी हासिल कर ली है।

अपने रिलीज के कुछ दिनों के अंदर ही इसके users की संख्या एक मिलियन तक पहुंच गई है ।चैट जीपीटी करेंट समय में सबसे तेज़ी से ग्रो करने वाला एआई टूल है। Netflix को एक मिलियन यूजर की संख्या तक पहुंचने में एक साल लगे जबकी ट्विटर को 1 मिलियन तक पहुंचने में 2 साल लगे हैं। लेकिन Chat Gpt के Launch के दो महीने के अंदर ही Users की संख्या 100 मिलियन हो गयी है. इसी से इसके पॉपुलैरिटी का पता चलता है।

चैट जीपीटी नामक तकनीक ने गूगल की भी निंद उड़ा रखी है, सोशल मीडिया में चैट जीपीटी की काफी चर्चा है, कहा जा रहा की आने वाले दिनों में चैट जीपीटी गूगल को टक्कर दे सकती है ।चैट जीपीटी का भविष्य काफी उज्जवल दिखता है, इसके भविष्य को देखते हुए माइक्रोसॉफ्ट कॉर्पोरेशन ने इसमें अरबो डॉलर निवेश किया है ।

ChatGpt vs Google
ChatGpt vs Google

Google की कार्य प्रणाली- How Google Works?

Google एक सर्च इंजन है, यहां पर जब हम इसके सर्च बॉक्स में कुछ भी सर्च करेंगे तो ये हमे लिंक प्रोवाइड करती है.Google हमें सटीक जवाब नहीं देता है,बल्कि जवाब के रूप में उस वेबसाइट का लिंक हमारे सामने प्रस्तुत करता है। Users उस लिंक पर क्लिक कर अपना जवाब प्राप्त कर लेता है.

गूगल वेब क्रॉलर नमक सॉफ्टवेयर का इस्तमाल करता है, यह सॉफ्टवेयर नियमित रूप से पेज को ढूंढता रहता है ताकि उन्हें इंडेक्स में जोड़ सके .

गूगल तीन चरणों में काम करता है-

Crawl करना-

Web Page क्रॉलर अपने आप काम करने वाला एक सॉफ्टवेयर है ,ये क्रॉलर की मदद से इंटरनेट पे मिले पेज के Texts, Images, Videos को डाउनलोड कर लेता है।

इंडेक्स करना-

Web Pages के टेक्स्ट, इमेज ,Videos का विशेषण करने के बाद गूगल इस जानकरी को इंडेक्स में सेव कर लेता है, जो की एक बहुत बड़ा डेटाबेस है।

सर्च रिजल्ट दिखाना-

जब गूगल पर कोई व्यक्ति कुछ भी सर्च करता है, तो गूगल यूजर के Query के हिसाब से सर्च रिजल्ट दिखाता है.

chat gpt 3
ChatGpt vs Google

Chat Gpt की कार्य प्रणाली- How Chat Gpt Works?

चैट जीपीटी ओपन एआई आधारित टूल है। ये एक भाषा मॉडल है जो टेक्स्ट डेटासेट पर बनाया गया है, जिस से ये मानव की तरह प्रतिक्रिया दे सकता है।

चैट gpt जीपीटी 3 मॉडल पे आधारित है। ये चैट बॉट है, जो कि प्रश्नों का उत्तर देने व भाषा का अनुवाद करने के लिए प्रयोग में लाया जाता है। चैट जीपीटी चैट बॉक्स में पूछे गए प्रश्नों का उत्तर Text के रूप में लिख कर देती है। इसका जवाब भी काफी विस्तार पूर्व, सरल व साफ होता है।

चैट जीपीटी के डेटाबेस में सारी जानकारी फीड कर दी गई है. जब कोई Person चैट जीपीटी में अपने सवालों का जवाब पाना चाहता है तो ये लिखित रूप में सवाल का जवाब देती है।

ai generated

क्या चैट जीपीटी गूगल को खत्म कर देगी?(ChatGpt vs Google)

चैट जीपीटी ओपन एआई भाषा मॉडल है, जब की गूगल एक सर्च इंजन है। दोनों अलग-अलग टेक्नोलॉजी हैं जो कि अलग-अलग मिशन के पूर्ति के लिए बनाई गई है।

Google का मुख्य उद्देश्य इंटरनेट पे जानकारी को खोजना है, इसके लिए ये वेब पेज को क्रॉल करके उसका इंडेक्स करता है, और फिर सर्च रिजल्ट हमारे सामने प्रदर्शित करता है । दूसरी तरफ चैट जीपीटी भाषा मॉडल है जिसे समझने और प्रतिक्रिया देने के लिए बनाया गया है। ये विशेष रूप से पाठ निर्माण अनुवाद और चैट के लिए प्रयोग किया जाता है।

गूगल वेब पेज खोज के लिए अनुकूल है, इसका परिणाम चैट जीपीटी से बेहतर है। गूगल में हमें आवाज के द्वार सर्च, इमेज सर्च इत्यादी की भी सुविधा मिलती है जब की चैट जीपीटी में अभी ये उपलब्ध नहीं है।

गूगल हमें लोकल लैंग्वेज में सर्च की भी सुविधा उपलब्ध करता है, जबकी चैट जीपीटी अभी सिर्फ अंग्रेजी भाषा में ही मौजुद है।

ChatGpt vs Google

Conclusion

तो इस तरह से हमने ChatGpt vs Google का तुलनात्मक विश्लेषण किया ,और पाया कि दोनों अलग अलग टेक्नोलॉजी है।

google और चैट GPT दोनों अलग-अलग टेक्नोलॉजी है और दोनों अलग-अलग प्रकार से कार्य करती हैं। अभी की बात करे तो गूगल का रिजल्ट Chat Gpt से बेहतर है, और यह हमें Chat Gpt के मुक़ाबले ज़्यादा सुविधा प्रदान करता है।

मेरा आप सभी लोगों से गुजारिश है कि अगर ऊपर दी गई जानकारी आपको पसंद आई है तो आप इसे आस पड़ोस, दोस्तों और रिश्तों के बीच शेयर करें,ताकी उनके बीच नई-नई टेक्नोलॉजी के बारे में जागरुकता बढ़े, और सभी इसे लाभन्वित हो।

अगर ऊपर के लेख को पढ़कर आपके मन में कोई भी शंका हो, तो बेझिझक आप कमेंट लिख कर भेज सकते हैं, मैं जरूरी इसका जवाब देने की कोशिश करूंगा।

यह लेख आपको कैसा लगा आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं, आपके कमेंट से हमें अपने कंटेंट को सुधारने का मौका मिलेगा ।

कृपा कर मेरे पोस्ट को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म, जैसे Facebook, Twitter, Linkedin, Whatsapp पर जरूर शेयर करें.

Kashif Rahman

मेरा नाम काशिफ रहमान है। ब्लॉगिंग, डिजिटल मार्केटिंग ,वर्डप्रेस एसईओ, टेक्नोलॉजी, इंटरनेट और कंप्यूटर ,ट्रैवेल व फुड्स से जुड़े विषयों में मेरी दिलचस्पी है।अंग्रेजी भाषा में तो कई अच्छे अच्छे ब्लॉग लिखे गए है,किन्तु हिंदी में क्वालिटी कंटेंट की भारी कमी है । इसी बात को ध्यान में रख कर मैंने January 2023 में इस ब्लॉग की शरुआत की है।ज़्यादा जानकारी के लिए अबाउट मी पेज देखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *